Toursim in Joginder Nagar & Himachal Pradesh

Joginder Nagar is a small and ultra-picturesque town located at the North-West end of the Great Himalayan ranges. The city is located on the north eastern edge of Joginder Nagar Valley which is surrounded by mountains. Joginder Nagar is 1,010 meters above sea level.

One of the nine tehsils of Mandi district of Himachal Pradesh Joginder Nagar (Joginder Nagar, Jogendra Nagar) had been known as Sukarahti in old times. Joginder Nagar was named after the legendary king Jogindrasen of Mandi. Joginder Nagar is the only city in Asia having three hydro power houses, for which city is also known by "power city".

There are number famous of tourist places in Himachal Pradesh. The city is close to famous tourist places like Shimla, queen of the hills, Manali the Kasmir of Himachal Pradesh, Chamba & Khajiar known as the mini Switherland. Toursist services like cabs, taxis, tourist buses and train from Pathankot are also avaialble to Joginder Nagar.

Joginder Nagar has good hotels and restaurants. Major attractions are haulege system, lakes, power houses, dense deodar forests, snow peaked mountained, train, ancient temples, aayurvedic college, ancient forts, and warm welcoming citizens. One must visit Joginder Nagar once in his/her life.

समाचार info@jogindernagar.com पर भेजें
जोगिन्दर नगर तथा देवभूमि हिमाचल प्रदेश को समर्पित

जोगिंदर नगर

Raja Sir Joginder Senजोगिंदर नगर (जोगिन्द्रनगर, जोगेन्द्र नगर) नाम का छोटा और सुन्दर शहर हिमालय पर्वतमाला के उत्तर पश्चिमी छोर पर स्थित है. जोगिंदर नगर समुद्र तल से 1,010 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है. हिमाचल प्रदेश के मंडी जिले की नौ तहसीलों में से एक जोगिंदर नगर का पुराना नाम सकराहटी था। मण्डी के प्रसिद्ध राजा जोगिंदर सेन के नाम पर इस नगर का नाम जोगिंदर नगर पड़ा... >>पढ़ना जारी रखें

समाचार

 

फोटो गैलरी

आसपास

मंडयाली

तू होर कोई सब्जी कानी बणाई लैंदी?

इक जनानी पुलिस ठाणे गयी। जनानी: मेरा घरवाला गोभिआ री सब्जी लैणा गयिरी था परसी। हाली तक नि आया. मेरी रपोट लिखी देया। (more…) पढें विस्तृत >>

  • himachali-girl
    पहाड़ी टब्बर कने समझदार नूंह

    इक्की पहाड़ीए अपनी मेहनता कने खूब धन-दौलत कमाई. सै इक दिन मरी गया. तिसरे तिन पुतर थे. सभी रे सब आलसी. कई साल होई गए पर तिन्हे कोई कम कार नी कित्ता. आपणे बापू री कमाइया पर ही जीणा थे लगिरे. (more…)

  • Black-Paited-Face-Lady
    चलाक लाड़ी कने स्याणा लाड़ा

    इक जनानी थी पर थी बड़ी झगडालू. सबनी कने लड़दी रैहंदी थी. अपणीयां सासु जो ता सिरे गे नि सखांदी थी. गल्ला-गल्ला मंझ तिसा जो नीचा दिखाने रा मौका तोपदी रैहंदी थी. लाड़ा बचारा घराटा रे पट्टा मंझ पिसणे सान्ही पिसदा था. लाड़ीया जो भतेरा समझांदा था पर तिस्सा जो कोई फर्क नी पौंदा था. (more…)

  • बाल्दा माहणु बन माहणु

    ताऊए कणका बाह्णे(बीजने) जो बाल्द (बोल्द) जोड़ीरे थे.. इक बाल्द सिधि नी लगिरी था लाणा कने दैड़ा कोडी जो लगिरी था दोड़ना..

    ताऊ बोलदा, “ओए बाल्दा माहणु बण माहणु”..

    मिंजो बड़ी भारी हास्सी आई.. (more…)

धर्म-संस्कृति

तेईसवीं पीढ़ी क्या खायेगी

एक राजा ने अपने मंत्री से कहा कि पता करे कि अपने राजकोष में कितना धन है. मंत्री ने पता किया और राजा को बताया कि राजकोष में आने वाली बाईस पीढ़ियों के लिए प्रयाप्त धन है. राजा सोच में पड़ गया. सोचा कि तेईसवीं पीढ़ी क्या खायेगी। (more…) पढें विस्तृत >>

  • तेईसवीं पीढ़ी क्या खायेगी

    एक राजा ने अपने मंत्री से कहा कि पता करे कि अपने राजकोष में कितना धन है. मंत्री ने पता किया और राजा को बताया कि राजकोष में आने वाली बाईस पीढ़ियों के लिए प्रयाप्त धन है. राजा सोच में पड़ गया. सोचा कि तेईसवीं पीढ़ी क्या खायेगी। (more…)

  • विपदाओं से मुझे बचाओ, यह प्रार्थना मैं नहीं करता

    विपदाओं से मुझे बचाओ, यह प्रार्थना मैं नहीं करता,
    प्रार्थना है कि विपदाओं का भय न हो।
    दुख से पीड़ित हृदय को भले ही सांत्वना न दो,
    सामना उनका कर सकूं इतनी शक्ति अवश्य दो।
    भले ही जुटे न संबल,
    पर टूट न जाए अपना बल।
    क्षति जो हो घटित जगत् केवल देता तिरस्कार और उपहास,
    पर मैं अपने मन में मानूं न पराजय।
    संकट से मुझे उबारो यह प्रार्थना मैं नहीं करता,
    सामना उनका कर सकूं इतनी शक्ति अवश्य दो।
    मेरा भार घटा कर भले ही सांत्वना न दो,
    भार उतना ढो पाऊं इतना बल अवश्य दो।
    शीश झुकाए सब सुख आएं
    तो मैं उनमें तुम्हारा चेहरा पहचान लूं,
    सम्पूर्ण सृष्टि जिस दिन दुःख के अंधेरे में डूबी हो
    मैं तुम पर कोई संशय न करूं।
    यही है प्रार्थना।

    – गीतांजली, गुरूदेव रविंद्रनाथ ठाकुर

  • shivratri-dev-gods
    देवताओं की बनेगी डायरेक्टरी

    मंडी : अंतरराष्ट्रीय शिवरात्रि महोत्सव के इतिहास में यह पहला अवसर होगा कि देव मिलन की परंपरा निभाने मंडी आने वाले जनपद के हर देवता का रिकॉर्ड तैयार किया जाएगा। शिवरात्रि मेला आयोजन समिति ने ऐतिहासिक फैसला लिया है कि इस धार्मिक व सांस्कृतिक धरोहर के संरक्षण के दृष्टिगत मेले में आमंत्रित सभी देवताओं की डायरेक्टरी बनाई जाएगी। (more…)

विशेष लेख

uncomplete-bridge

टिकरू पुल- राजनीतिक प्रतिद्वंदिता का शिकार?

जोगिन्दरनगर: यहाँ से लगभग पांच किलोमीटर दूर रणा खड्ड में बना पुल आजकल चार पांच पंचायतों की जनता के लिए सफेद हाथी बना हुआ है. लगभग दो वर्ष पहले और विगत मुख्यमंत्री धूमल की बीजेपी सरकार के कार्य ...

sair-jncom

सायर – सौभाग्य के प्रतीक के रूप में मनाया जाने वाला पर्व

हिमाचल प्रदेश में तीज-त्यौहार पहाड़ी संस्कृति के परिचायक हैं. यहाँ हर त्यौहार और उत्सव का अपना विशेष महत्व है. क्रमानुसार भारतीय देसी महीनों के बदलने और नए महीने के शुरू होने के प्रथम दिन को सक...

featured-1-by-cartoonish-arvind

“स्थानीय कलाकारों की उपेक्षा लोक संस्कृति के लिए घातक”

कार्टूनिस्ट अरविन्द (https://fb.com/kaktoons) देवभूमि हिमाचल प्रदेश की अपनी एक बहुत ही सम्पन संस्कृति रही है. यहाँ के मेले त्यौहार यहाँ के उत्सव यहाँ की लोकसंस्कृति को सभी के समक्ष प्रस्तुत करने का सशक्त म...

female-leopard-shot-dead

क्या आप भी किसी ‘बहादुर’ शिकारी को जानते हैं??

किसी 'बहादुर' शिकारी का कारनामा (नीचे चित्र में) जो छुप कर वार करता है और जंगल की शान समझे जाने वाले चीते तेन्दुए जैसे शानदार जानवरों को पैसे के लालच या महज़ शौक के लिए विलुप्त करने पर तुला है. क्...