अस्पताल में असुविधाओं के चलते मरीज हो रहे परेशान

जोगिन्दरनगर : यह कहावत तो आपने जरूर सुनी होगी “ऊंची दुकान फीका पकवान” जी हाँ शहर में स्थित नागरिक चिकित्सालय जोगिंदरनगर आजकल इस कहावत को चरितार्थ कर रहा है. जहाँ सरकारें मरीजों को हर स्वास्थ्य सुविधाएँ देने का दम भरती रहती हैं वहीँ इस अस्पताल में हमेशा ही सरकारें मरीजों को स्वास्थ्य सुविधाएँ देने में नाकाम रहीं हैं.

करोड़ों खर्च करने के बाद भी सुविधाएँ नाममात्र

इतने बड़े अस्पताल में लाखों, करोड़ों खर्च करने के बाद भी यहाँ स्टाफ की कमी तो हमेशा से ही रही है. हैरानी की बात तो यह है कि मरीजों को भी यहाँ अल्ट्रासाउंड और एक्सरे की सुविधाएँ नहीं मिल पाती है जिससे उन्हें निजी क्लीनिकों का रुख करना पड़ता है जहाँ पहले से परेशान चल रहे मरीजों की भारी भरकम रकम खर्च हो जाती है.

हमेशा ही परेशान होते हैं मरीज

हमेशा ही इस अस्पताल में मरीजों को असुविधाओं का सामना करना पड़ता है. यहाँ तक कि यह अस्पताल दूर दराज क्षेत्र चौहार घाटी एवं बड़ा गाँव तथा समस्त जोगिन्दरनगर विधानसभा का केंद्र बिंदु है लेकिन सरकार चाहे कोई भी हो मरीजों को समस्त सुविधा देने में हमेशा ही नाकाम साबित हुई है.

दिनभर लगी रही मरीजों की लाइन

lशनिवार को भी मरीज सुबह से लाइनों में लगे रहे. अस्पताल में स्टाफ की कमी के कारण शनिवार को भी हमेशा की तरह लोगों को बहुत परेशानियों का सामना करना पड़ा. ख़ास बात यह है कि जो सुविधाएँ यहाँ मरीजों को मिलनी चाहिए वह भी नहीं मिलती.

न अल्ट्रासाउंड न ही एक्सरे की सुविधा

हैरानी वाली बात है कि इतने बड़े सरकारी अस्पताल में अल्ट्रासाउंड एव एक्सरे मशीन तक नहीं हैं. मरीजों को अल्ट्रासाउंड और एक्सरे के लिए निजी क्लीनिकों का रुख करना पड़ता है जहाँ उनका काफी पैसा खर्च होता है.

जल्द उठाएंगे कदम : प्रकाश राणा

वहीँ जोगिन्दरनगर के विधायक प्रकाश राणा का कहना है कि जल्द ही मरीजों को आ रही समस्या को दूर करने के लिए कदम उठाये जायेंगे.

जोगिन्दरनगर की लेटेस्ट न्यूज़ के लिए हमारे फेसबुक पेज को
करें।