हिमाचल में सोमवार को आए कोरोना के 10 नए मामले,90 संक्रमित

शिमला : कोरोना संक्रमण की चपेट में बुरी तरह फंस चुके हिमाचल में सोमवार को रिकार्ड दस नए मामले सामने आए हैं। यह एक दिन में सामने आने वाले मामलों का रिकार्ड है। इससे पहले प्रदेश में एक दिन में नौ मामले सामने आ चुके हैं। सोमवार को अकेले हमीरपुर जिला में ही पांच नए मामले सामने आए हैं। इसके अलावा बिलासपुर में तीन और कांगड़ा तथा चंबा में एक-एक मामला सामने आया है। इसके साथ ही हिमाचल में कोरोना के कुल मामले 90 तक पहुंच गए हैं।

हमीरपुर

सोमवार को अकेले हमीरपुर जिला में ही पांच नए मामले सामने आए हैं। इसके अलावा बिलासपुर में तीन और कांगड़ा तथा चंबा में एक-एक मामला सामने आया है। मुंबई से हमीरपुर लौटे पांच व्यक्तियों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। नादौन तथा टौणी देवी क्षेत्र के इन कोरोना मरीजों में 60 वर्षीय बुजुर्ग 12 मई तथा अन्य चार 14 मई को मुंबई से लौटे थे। इनमें एक युवक 20 साल का है और अन्य तीन की उम्र 47, 50 व 54 वर्ष है। बूणी, फाहल, ग्वारड़ू तथा मझोल के इन कोरोना मामलों के बाद इन क्षेत्रों को कंटेनमेंट जोन में बदल दिया है।

बिलासपुर

इसी बीच बिलासपुर में अहमदाबाद से लौटे मां-बेटी और एक 19 वर्षीय युवक भी कोरोना की चपेट में आ गए हैं। ये तीनों स्वारघाट और नयनादेवी क्वारंटाइन सेंटर में रखे गए थे। उधर, कांगड़ा जिला के जौंटा क्षेत्र के हाल ही में सामने आए कोरोना मरीज की 24 वर्षीय पत्नी भी संक्रमित पाई गई है। यह मरीज आठ मई को गुरुग्राम से आया था।

चम्बा

सबसे दर्दनाक मामला चंबा में सामने आया है, जहां अपनी दो साल की कोरोना पीडि़त बच्ची की देखभाल में लगी मां भी संक्रमित हो गई है। ये दोनों बालू कोविड केयर सेंटर में उपचाराधीन हैं। गौरतलब है कि इस बच्ची को बद्दी से लौटे अपने ट्रक ड्राइवर पिता से यह रोग लगा था। इसके साथ ही हिमाचल में कोरोना के कुल मामले 90 तक पहुंच गए हैं।

काँगड़ा

इसके अलावा डराने वाली खबर यह है कि सोमवार को कांगड़ा जिला में मुंबई से लौटे 251 में से 29 लोगों में कोरोना के लक्षण होने की आशंका के चलते सभी के सैंपल भरे गए हैं। गौरतलब है कि सोमवार को प्रदेश भर से कोरोना के 808 सैंपल जांच के लिए भेजे गए थे। खबर लिखे जाने तक इनमें से 616 की रिपोर्ट नेगेटिव आ चुकी थी, जबकि चार की पॉजिटिव। इसके अलावा 128 मामलों की रिपोर्ट आनी बाकी थी।

पीड़ितों की संख्या 90

सोमवार को सामने आए छह अन्य मामले रविवार को लिए गए सैंपलों में सामने आए थे। अतिरिक्त मुख्य सचिव आरडी धीमान ने बताया कि प्रदेश में कोरोना पीडि़तों की संख्या 90 हो चुकी है। इनमें 42 पीडि़त स्वस्थ होकर घर लौट चुके हैं। चार मरीजों को दिल्ली के मेदांता अस्पताल में शिफ्ट किया गया था और वे भी स्वस्थ हो गए हैं। इसके अलावा तीन की मौत हो चुकी है।

41 लोग उपचाराधीन

प्रदेश भर में कोरोना के 41 लोगों का उपचार चल रहा है। उन्होंने बताया कि अभी तक कोरोना की कोई दवा या वैक्सीन ईजाद नहीं हुई है। हमें अपनी, अपने परिवार, समाज, देश और मानवता की सुरक्षा करते हुए अपनी जिंदगी की रफ्तार को पुनः पटरी पर लाने के लिए अपने सुरक्षित तरीकों से व्यवस्थित करना होगा।

डरने की जरूरत नहीं

कोरोना पॉजिटिव हो जाने का मतलब यह नहीं लिया जाना चाहिए की सब खत्म हो गया, बल्कि प्रदेश, देश और पूरी दुनिया में बहुत से रोगी इस बीमारी से ठीक हो रहे हैं। यहां तक की उम्रदराज लोग भी कोरोना को मात देकर अपने घरों में स्वस्थ हैं। उन्होंने कहा कि आवश्यकता सकारात्मकता, दृढ़ इच्छाशक्ति और सजगता की है।

बरतें सावधानी

कोरोना वायरस से बचाव का सबसे आसान तरीका है कि आप अपने हाथ नियमित तौर पर धोते रहें, खांसते-छींकते वक्त अपनी कोहनी या फिर टिशु का इस्तेमाल करें। बीमार व्यक्ति से या फिर खांसने-छींकने वाले व्यक्ति से एक मीटर की दूरी बनाएं।

कोरोना अब तक

निगरानी में            31361

क्वारंटाइन पीरियड    22176

कुल सैंपल            18224

कुल नेगेटिव           17946

कुल पॉजिटिव         90

ठीक हुए               42

पॉजिटिव (माइग्रेटिड) 04

उपचाराधीन           41

कोरोना से मौत        03

-- advertisement --
जोगिंदरनगर से जुड़ने/जोड़ने की हमारी इस कोशिश का हिस्सा बनें। इस न्यूज को
करें और हमारे फेसबुक पेज को भी
करें। इससे न केवल आप हमें प्रोत्साहित करेंगे बल्कि जोगिंदरनगर की लेटैस्ट न्यूज भी प्राप्त कर सकेंगे।