पपरोला होली मेले की अंतिम संध्या पर करीब चार घंटे जाम

बैजनाथ —  119 सालों से लगातार मनाए जा रहे पपरोला होली मेले की अंतिम संध्या पर लगातार करीब चार घंटे लगे लंबे जाम ने पुलिस व प्रशासन की पोल खोल कर रख दी। अव्यवस्था का यह आलम रहा कि जाम में फंसी लंबे रूटों वाली बसें बाहरी राज्यों से आए सैलानियों को चार घंटों तक गाडि़यों में बैठकर समय गुजारना पड़ा। इसके लिए प्रशासन व पुलिस ने कोई भी इंतजाम नहीं कर रखा था।

लंबे जाम की यह हालत थी कि बैजनाथ के खीरगंगा घाट के बड़े मोड़ से लेकर ठारू के आगे तक लंबा जाम घंटों लगा रहा। यह तो होता आया है कि पपरोला होली मेले में जब झांकियां निकलती हैं तो जाम लगना स्वाभाविक हो जाता है, मगर इसके लिए पुलिस प्रशासन को पहले से ही पुख्ता प्रबंध करने चाहिए थे।

पिछली रात जब होली मेले में मां काली की भव्य झांकी निकलती है, उस मां के दर्शन करने के लिए हजारों लोग गांव-गांव से आते हैं। बीती संध्या को भी ऐसा ही हुआ कि सैकड़ों गाडि़यां सड़क किनारे खड़ी कर लोग पपरोला पहुंच गए, ऊपर से बाइपास न होने के चलते गाडि़यों का लंबा जाम लगना शुरू हो गया।

यह पुलिस प्रशासन को भी पता नहीं था कि इतना लंबा जाम लग जाएगा। पुलिस प्रशासन को चाहिए था कि ऐसी स्थिति में एक घंटे तक आपातकालीन गाडि़यों को छोड़कर सड़क पर वाहनों की आवाजाही ही रोक देते, ताकि निकलने वाली झांकियों के बाद कम से कम लोगों को एक घंटे का ही इंतजार करना पड़ता। इस बारे पूर्व में न किए गए प्रबंधों का परिणाम लोगों को उठाना पड़ा।

स्रोत : दिव्य हिमाचल

जोगिन्दरनगर की लेटेस्ट न्यूज़ के लिए हमारे फेसबुक पेज को
करें।