मंडी की छात्रा ने चंडीगढ़ में उठाया खौफनाक कदम, मौत

चंडीगढ़/मंडी: सैक्टर-22सी स्थित पी.जी. हाऊस में सोमवार देर शाम पी.एम.टी. की छात्रा ने फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। पुलिस की प्राथमिक जांच में सामने आया कि छात्रा मानसिक तनाव में थी। मंगलवार को पोस्टमार्टम करवाने के बाद संबंधित थाना पुलिस ने शव परिजनों को सौंप दिया। सैक्टर-17 थाना प्रभारी रंजीत सिंह ने बताया कि युवती की पहचान 19 वर्षीय पूर्णंक के रूप में हुई जो हिमाचल के जिला मंडी की रहने वाली थी। वह 7 माह से सैक्टर-22सी स्थित पी.जी. हाऊस में सहेलियों के साथ रह रही थी और पी.एम.टी. परीक्षा की तैयारी में लगी थी।

जब सहेलियों द्वारा आवाज लगाने पर नहीं दिया जवाब

पुलिस की प्राथमिक जांच में सहेलियों ने बताया कि होली की शाम को सभी सहेलियां पास वाले पार्क में घूमने निकल गईं लेकिन पूर्णंक ने कहा कि वह बाद में आएगी। जब सभी लड़कियां वापस आईं तो पूर्णंक का कमरा अंदर से बंद था। बार-बार आवाज लगाने के बावजूद जब अंदर से कोई जवाब नहीं आया तो लड़कियों ने आसपास के लोगों व पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने जब दरवाजा खोला तो देखा कि पूर्णंक ने पंखे की कुंडी में फंदा लगाया हुआ था। पुलिस कर्मियों ने युवती को नीचे उतारा और जी.एम. एस.एच.-16 पहुंचाया, जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

पढ़ाई में होनहार थी छात्रा

पुलिस पूछताछ में साथ रहने वाली लड़कियों ने बताया कि पूर्णंक पढऩे-लिखने में काफी अच्छी थी लेकिन वह कुछ दिनों से परेशान थी। हालांकि एक-दो बार उससे उसकी परेशानी के बारे में पूछा पर वह हंसकर बात टाल देती थी। सैक्टर-17 थाना प्रभारी रंजीत सिंह ने बताया कि पुलिस छात्रा के मोबाइल की जांच में लगी है। इसके अलावा मौत की वजह के बारे में परिजनों को भी जानकारी नहीं है।

स्रोत : पंजाब केसरी

-- advertisement --
जोगिंदरनगर से जुड़ने/जोड़ने की हमारी इस कोशिश का हिस्सा बनें। इस न्यूज को
करें और हमारे फेसबुक पेज को भी
करें। इससे न केवल आप हमें प्रोत्साहित करेंगे बल्कि जोगिंदरनगर की लेटैस्ट न्यूज भी प्राप्त कर सकेंगे।