हर महीने 12 हजार युवा मांग रहे नौकरी

रोजगार कार्यालयों के आंकड़ों से खुलासा, कांगड़ा में सबसे ज्यादा बेरोजगार पंजीकृत

पालमपुर — नौकरी की आस में प्रदेश भर में हर माह करीब 12 हजार नए लोग रोजगार कार्यालयों में अपना नाम दर्ज करवा रहे हैं। छोटे से प्रदेश में सालाना पंजीकरण का आंकड़ा काफी कुछ बयां कर रहा है। 2016 में रोजगार कार्यालयों में नए पंजीकृत होने वाले लोगों की संख्या 144692 रही है।

हालांकि यह आंकड़ा साल 2015 के मुकाबले कुछ कम हुआ है, जब साल भर में 146741 लोगों ने नौकरी की चाह में रोजगार कार्यालय में अपना नाम दर्ज करवाया था। पिछले दो वर्षों के दौरान जहां कुछ जिला में नए पंजीकरण करवाने वालों की संख्या में इजाफा हुआ है, वहीं कुछ जिलों में इस आंकड़े में काफी अधिक कमी देखी गई है।

रोजगार कार्यालयों में सबसे अधिक पंजीकृत लोगों की संख्या वाले जिला कांगड़ा में हर साल नए जुड़ने वाले लोगों का आंकड़ा भी सबसे अधिक है। 2015 में जहां जिला कांगड़ा में 34835 नए बेरोजगार जुड़े थे, वहीं 2016 में यह संख्या 35459 रही, जिससे जिला में पंजीकृत बेरोजगारों की संख्या अब 177135 से बढ़कर 186662 तक पहुंच गई है।

अकेले जिला कांगड़ा में ही हर माह करीब तीन हजार नए युवा बेरोजगारों की सूची में शामिल हो रहे हैं, जोकि पूरे प्रदेश के आंकड़े का 25 प्रतिशत है। जिला मंडी में हर माह नए पंजीकरणों की संख्या दो हजार से अधिक रह रही है और 2015 में 25258 और 2016 में 27866 नए पंजीकरण दर्ज किए गए हैं।

उधर, जिला चंबा में रोजगार कार्यालयों में नाम दर्ज करवाने वालों के ग्राफ में एक साल में जबरदस्त गिरावट आई है। 2015 में जिला चंबा में जहां 19509 लोगों ने अपना नाम पंजीकृत करवाया था,वहीं 2016 में यह संख्या केवल 9485 रही। साल के दौरान करवाए गए पंजीकरण का आंकड़ा दो जिला में 1500 से भी कम रहा।

जिला किन्नौर में साल भर में 1457 तो जिला लाहुल-स्पीति में मात्र 1191 लोगों ने रोजगार कार्यालय में नाम दर्ज करवाए। रिक्तियां अधिसूचित करने के मामले में 2016 में जिला सिरमौर सबसे आगे रहा, जहां यह आंकड़ा 2136 रहा, वहीं शिमला में 1580 रिक्तियां अधिसूचित की गईं।

स्रोत : दिव्य हिमाचल

Facebook Comments