गली-सड़ी हालत में मिला गुमशुदा ज्योति का शव

जोगिन्दरनगर: अभी-अभी सूत्रों के हवाले से दुःखद खबर मिली है कि जोगिन्दरनगर उपमंडल की भराडू पंचायत के  गडूही गाँव से करीब एक माह से लापता ज्योति देवी का मृत शरीर गली सड़ी हालत में पेड़ से लटका हुआ मिला है.

हराबाग गांव के नकेहड़ की निवासी 23 वर्षीय ज्योति आठ अगस्त से अपने ससुराल गढई से लापता हुई थी।

ज्योति की सास ने ज्योति की चप्पल से शव की शिनाख्त की। अब डीएनए टेस्ट भी होगा। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर जाच तेज कर दी है। इस मामले में ज्योति के पति पर गिरफ्तारी की तलवार लटक गई है।

एक ग्रामीण ने पुलिस को जंगल में शव मिलने की जानकारी दी। इसके बाद पुलिस की कई टीमें मौके पर पहुंचीं। मंडी की फारेंसिक टीम ने भी जंगल सील कर साक्ष्य जुटाए। पुलिस थाना प्रभारी प्रीतम जरियाल व डीएसपी लोकेंद्र नेगी ने भी घटनास्थल का निरीक्षण किया। बुधवार को पोस्टमार्टम के बाद शव स्वजनों को सौंपा जा सकता है।

इसके बाद पुलिस के पहरे में अंतिम संस्कार होने की संभावना हैं।

इस मामले में मायके पक्ष की ससुराल पक्ष के खिलाफ हंगामे के आसार हैं। इसके मद्देनजर ससुराल में पुलिस का पहरा बढ़ा दिया गया है। भारी पुलिस बल तैनात कर दिया है।

दो सप्ताह पहले भी स्वजनों की मौजूदगी में ग्रामीणों का गुस्सा पुलिस प्रशासन के खिलाफ फूटा था। ज्योति की माता सवित्री देवी और पिता बृजभूषण ने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर से बेटी को जिंदा या मुर्दा मिलाने की माग की थी।

सवित्री देवी ने कहा था कि बेटी की साजिश के तहत हत्या कर दी गई है।

ज्योति की हत्या हुई या उसने आत्महत्या की, इसकी पुलिस जाच कर रही है। ज्योति के पति पर प्रताड़ना का मामला पुलिस ने पहले दर्ज किया है। इसमें कुछ अन्य धाराओं को पुलिस जोड़कर जाच आगे बढ़ाएगी।

फारेंसिक टीम की रिपोर्ट के बाद अगामी कर्कवाई सुनिश्चित होगी और शव का डीएनए टेस्ट भी होगा।

पुलिस अधीक्षक शालिनी अग्निहोत्री ने ज्योति के स्वजनों को आश्वस्त किया है वह जल्द इस मामले को सुलझा लिया जाएगा।

सूत्रों के अनुसार चावल जलने पर पति पत्नी में हुई थी कहासुनी ज्योति की माता सवित्री देवी ने बताया कि आठ अगस्त को घर में चावल जलने पर पति पत्नी में कहासुनी हुई थी।

इसके बाद रात करीब साढे़ आठ बजे अपने कुत्ते के साथ ज्योति लापता हो गई थी। उन्हें अगले दिन दोपहर बाद सास ससुर से बेटी के लापता होने की सूचना मिली। पांच दिन बाद कुत्ता घर लौट आया लेकिन बेटी नहीं लौटी।

भराडू पंचायत के गडूही में उनकी बेटी की शादी दो साल पहले हुई थी। एक साल पहले भी पति पत्नी में हुए विवाद को लेकर उन्होंने परिवार और आसपास के लोगो के साथ घर पहुंचकर मामला सुलझाया था। अब बेटी का शव बरामद होने पर उन्होंने हत्या का शक दामाद पर जताया है।

-- advertisement --
जोगिंदरनगर से जुड़ने/जोड़ने की हमारी इस कोशिश का हिस्सा बनें। इस न्यूज को
करें और हमारे फेसबुक पेज को भी
करें। इससे न केवल आप हमें प्रोत्साहित करेंगे बल्कि जोगिंदरनगर की लेटैस्ट न्यूज भी प्राप्त कर सकेंगे।