वायरल फीवर की चपेट में आए बच्चे

जोगिन्दरनगर : जोगिन्दरनगर उपमंडल में क्षेत्र के अधिकतर बच्चे आजकल वायरल फीवर की चपेट में आये हुए हैं. अधिकतर स्कूली बच्चे भी इस मौसमी बुखार की वजह से सरकारी और निजी अस्पताल में अपना इलाज करवा रहे हैं. उधर सरस्वती विद्या मंदिर टिकरू के छह छात्र शौर्य, अस्मित, दिव्यांशी, प्रतिमा, नव्या, कशिश समेत क्षेत्र के दर्जनों बच्चे वायरल फ़ीवर के शिकार हुए हैं.

क्या है वायरल फीवर

आयुर्वेदिक औषधालय टिकरू के डॉक्टर गौरव शर्मा का कहना है कि जो फीवर वायरस से फैलता है उसे वायरल फीवर के नाम से जाना जाता है. यह वायरस गले में मौजूद होता है. यह श्वसन द्वारा एक दूसरे व्यक्ति को फैलता है.

ये हैं वायरल फीवर फैलने के लक्षण

जब व्यक्ति को बुखार 103 – 104 डिग्री फारनहाइट के बीच हो. आँखें लाल हों तथा भूख न लगती हो. चक्कर आना तथा थकावट महसूस हो. इसके अलावा जोड़ों में दर्द हो तो ये वायरल फीवर के लक्षण होते हैं.

ऐसे फैलता है वायरल फीवर

डाक्टर के अनुसार फ्रिज की चीजों को प्रयोग करने, कोल्ड ड्रिंक्स, आइसक्रीम,व दूषित जल पीने तथा व्यक्ति की व्यक्तिगत स्वच्छता के अभाव से वायरल फ़ीवर के वाइरस क्रियाशील होता है.

वायरल फीवर होने पर क्या सावधानी बरतें

जब जब खाना खाएं पहले हाथों को साबुन से धोएं. फ्रिज की वस्तुओं का इस्तेमाल न करें. पानी उबाल कर पीएं. घर में तुलसी तथा गिलोय का काढ़ा बनाकर पिएं. बुखार ज्यादा होने पर चिकित्सक की सलाह लें.

 

 

जोगिन्दरनगर की लेटेस्ट न्यूज़ के लिए हमारे फेसबुक पेज को
करें।