केंद्र सरकार ने टिकटॉक समेत 59 चाइनीज ऐप पर लगाया बैन

भारत-चीन तनाव के बीच केंद्र सरकार ने एक बड़ा फैसला लेते हुए टिकटॉक, शेयर इट, यूसी ब्राउजर समेत 59 चाइनीज ऐप पर बैन लगा दिया है। बैन किए गए ऐप में मशहूर क्लब फैक्टरी, हैलो, क्लैश ऑफ किंग्स इत्यादि ऐप भी शामिल हैं। इसके अलावा वीचैट, कैम स्कैनर जैसे और भी बहुत फेमस ऐप शामिल हैं।

तैयार हुई थी चाइनीज एप की लिस्ट

इससे पहले भारतीय सुरक्षा एजेंसियों से चाइनीज एप की एक लिस्ट तैयार कर केंद्र सरकार से अपील की थी कि इनको बैन किया जाए या फिर लोगों को कहा जाए कि इनको तुरंत अपने मोबाइल से हटा दें। इसके पीछे दलील यह दी गई थी कि चीन भारतीय डाटा हैक कर सकता है।

सुरक्षा के लिए हैं खतरा

सरकार ने अपने आदेश में कहा है कि हमने उन 59 ऐप्स को बैन किया है, जो भारत की एकता, सुरक्षा, रक्षा के लिए खतरा हैं। सरकार की ओर से जारी आदेश के अनुसार, वही ऐप बैन किए गए हैं, जो भारत की संप्रभुता और अखंडता, भारत की रक्षा, राज्य की सुरक्षा और सार्वजनिक व्यवस्था के लिए पूर्वाग्रहपूर्ण थे और इन पर डाटा हैक करने के आरोप लगते रहे हैं।

ये ऐप हुए बैन

भारत सरकार ने जिन चीनी ऐप पर प्रतिबंध लगाया है, उनमें टिक टॉक, शेयर इट, यूसी ब्राउजर, क्लैश ऑफ किंग्स, क्लब फैक्टरी, हैलो, वीचैट, जेंडर, डीयू बैटरी सेवर, लाइकी, यूकैन मेकअप, एमआई कम्युनिटी, वायरस क्लीनर, बिगो लाइव, एमआई वीडियो कॉल (शियोमी), डीयू रिकॉर्डर, कैम स्कैनर, क्लीन मास्टर, स्वीट सेल्फी, वीमेट इत्यादि शामिल हैं।

-- advertisement --
जोगिंदरनगर से जुड़ने/जोड़ने की हमारी इस कोशिश का हिस्सा बनें। इस न्यूज को
करें और हमारे फेसबुक पेज को भी
करें। इससे न केवल आप हमें प्रोत्साहित करेंगे बल्कि जोगिंदरनगर की लेटैस्ट न्यूज भी प्राप्त कर सकेंगे।