आयुर्वेद डॉक्टरों, फार्मासिस्टों के 300 पदों को भरने की मंजूरी

हिमाचल प्रदेश कैबिनेट की बैठक सोमवार को मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की अध्यक्षता में राज्य सचिवालय शिमला में आयोजित की गई। बैठक में कई बड़े फैसले लिए गए हैं। कैबिनेट ने आयुर्वेद डॉक्टर के 200 और फार्मासिस्टों के 100 पदों को भरने की मंजूरी दी। इनमें 100 पद सीधी भती व 100 बैचवाइज आधार पर भरे जाएंगे।

फार्मासिस्टों के 52 पद सीधी भर्ती व 48 पद बैच वाइज भरे जाएंगे। इसके साथ ही कांगड़ा के खुड़ियां में बीडीओ कार्यालय खोलने का फैसला लिया। इसके लिए 14 पदों के सृजन व भर्ती की मंजूरी दी। इस कार्यालय के तहत क्षेत्र की 20 पंचायतें आएंगी।  वहीं, कई स्कूलों को भी अपग्रेड करने का भी निर्णय लिया गया है।

नए पशु औषधालय खोलने की मंजूरी
कैबिनेट ने नए पशु औषधालय खोलने व अपग्रेड करने की मंजूरी दी। इसके अलावा नए आयुर्वेदिक स्वास्थ्य केंद्र खोलने की भी मंजूरी दी। अनुबंध, दैनिकभोगी वर्करों के नियमितिकरण को लेकर मंजूरी दी गई। कैबिनेट ने शास्त्री अध्यापकों को टीजीटी(संस्कृत)पदनाम देने की मंजूरी दी।

कई स्कूलों को अपग्रेड करने का भी फैसला लिया गया है। इसके लिए विभिन्न श्रेणियों के पदों को भी भरने की मंजूरी दी। सिरमौर के नौहराधार में सरकारी डिग्री कॉलेज खोला जाएगा। इसके लिए 18 पद स्वीकृत किए गए हैं।

कॉलेजों का बंटवारा
मंत्रिमंडल ने दोनों राज्य विश्वविद्यालयों के बीच जिलों के कॉलेजों का बंटवारा कर दिया है। सरदार पटेल विश्वविद्यालय मंडी में 137 और शिमला विश्वविद्यालय में 165 कॉलेज आएंगे। कांगड़ा जिले को मंडी विश्वविद्यालय में किया शामिल किया गया है।

इन विभागों में भरे जाएंगे पद
कैबिनेट ने पंचायती राज विभाग के सुचारू संचालन के लिए विभिन्न श्रेणियों के 32 पदों को भरने का निर्णय लिया।  राज्य निर्वाचन आयोग में हिमाचल प्रदेश कर्मचारी चयन आयोग के माध्यम से अनुबंध के आधार पर कनिष्ठ कार्यालय सहायक (आईटी) के छह पदों को भरने के लिए भी अपनी स्वीकृति दी।

ग्रामीण विकास में विभिन्न श्रेणियों के 25 पदों को भरने को स्वीकृति प्रदान की। कैबिनेट ने क्षेत्र के लोगों की सुविधा के लिए मंडी जिले के धर्मपुर में श्रम विभाग कार्यालय एवं उप रोजगार कार्यालय खोलने को भी मंजूरी दी।

जोगिन्दरनगर की लेटेस्ट न्यूज़ के लिए हमारे फेसबुक पेज को
करें।