सोशल मीडिया पर वायरल इस गाने के पीछे कौन हैं छात्राएं और प्रशिक्षक, जानें!

हरियाणा की पांच स्कूली छात्राओं द्वारा गया यह गाना बहुत ही मधुर, मन-भावन और शानदार बन पड़ा है. “बता मेरे यार सुदामा रे”  नाम का यह भजन जोकि भगवान श्रीकृष्ण और उनके बचपन के मित्र के बीच संवाद पर आधारित है, हरियाणा के डॉ. स्वरूप सिंह गवर्नमेंट मॉडल संस्कृति स्कूल सांघी की बेटियों ने बड़े ही मनमोहक, भक्तिमयी और पेशेवर अंदाज में इसे प्रस्तुत किया है. ठेठ देहाती हरयाणवी अंदाज में गाया गया यह गाना सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है.

इस भजन को गाने वाली ठेठ देहातों में रहने वाली इन बच्चियों के नाम विधि, ईशा, शीतल, मनीषा और रिंकू हैं. गीत की मुख्य-गायिका विधि घिलौर गाँव से,ईशा रूखी गाँव से और शीतल, मनीषा जसिया गाँव से और रिंकू सांघी से है. विधि नौवीं, ईशा, रिंकू और मनीषा दसवीं, और शीतल 11वीं में पढ़ रही हैं.

bata mere yaar sudama singers team

“बोल हरियाणा” उत्सव में सांघी स्कूल की छात्राओं द्वारा गाया गये भजन को एमडीयू यूनिवर्सिटी रोहतक के अनुसंधान विद्वान(रिसर्च स्कॉलर) सोमेश जांगड़ा ने तैयार करवाया है. सोमेश जांगड़ा संगीत विषय पर रिसर्च कर रहे हैं और इस स्कूल में म्यूजिक टीचर व इस टीम के प्रशिक्षक हैं. इन्होंने सांघी स्कूल की छात्राओं की प्रतिभा को तराश कर यह शानदार संयोजन किया है और इस गीत का संगीत भी उन्होंने किया है, जो कि वीडिओ के रूप में हमारे सामने है.

यह गाना सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. इसे फेसबुक, यूट्यूब आदि पर ढेरों प्रसंशा मिल रही है. सभी इन स्कूली छात्राओं की प्रतिभा को सराह रहे हैं. इस गीत को अब तक 1 करोड़ से ज्यादा लोग देख-सुन चुके हैं।

इसका श्रेय छात्राओं ने अपने माता पिता और म्यूजिक टीचर सोमेश जांगड़ा को दिया है। वहीँ, सोमेश जांगड़ा के अनुसार चारों तरफ से मिल रही प्रसंशा से वे बहुत उत्साहित हैं और उन्हें भजन को गाने वाली लड़कियों से बात करवाने के लिए लगातार फोन आ रहें हैं.

जोगिन्दरनगर की लेटेस्ट न्यूज़ के लिए हमारे फेसबुक पेज को
करें।