मौज़ मस्ती का केंद्र बनते जा रहे धार्मिक पर्यटन स्थल

जोगिन्दरनगर : हिमाचल प्रदेश में कई धार्मिक स्थल हैं जो श्रद्धालुओं की आस्था के केंद्र हैं. एक तरफ सरकार धार्मिक स्थलों को विकसित करने पर बल दे रही है जबकि दूसरी तरफ ये श्रद्धा के केंद्र मौज़ मस्ती का केंद्र बनते जा रहे हैं.

मंदिर कमेटी ने जताई चिंता

जिला मंडी का सुप्रसिद्ध धार्मिक स्थल पराशर भी इन दिनों मौज मस्ती का केंद्र बना हुआ है. मंदिर कमेटी ने इस पर गहरी चिंता जताई है. मंदिर कमेटी के सदस्यों ने मंडी के उपायुक्त ऋग्वेद ठाकुर को इस समस्या बारे अवगत करवाया तथा इस धार्मिक स्थल के साथ हो रही छेड़छाड़ को रोकने की गुहार लगाई है.

सड़क सुविधा के साथ ही बढ़ी मौज़ मस्ती

मंदिर कमेटी पराशर के प्रधान बलबीर ठाकुर का कहना है कि इस धार्मिक स्थल के सड़क सुविधा के जुड़ते ही आध्यत्मिकता की तरफ कम जबकि मौज़ मस्ती के लिए अधिक इस्तेमाल हो रहा है. खासकर युवा वर्ग नशे में दुर्घटनाओं का शिकार हो जाते हैं. आये दिन हो रहे हादसे इस ओर स्पष्ट इशारा करते हैं.

मंदिर कमेटी बेबस

मंदिर कमेटी भी बेबस है. कमेटी सराय भवनों में हो रही मौज़ मस्ती को भी रोक पाने में असफल साबित हो रही है.अब पर्यटक देवलुओं के लिए बने सराय के भवनों को मौज़ मस्ती के लिए इस्तेमाल करने लगे हैं जो चिंता का विषय है.

पुलिस का हो परमानेंट नाका

मंदिर कमेटी ने उपायुक्त मंडी से गुहार लगाई है कि यहाँ पर पुलिस का परमानेंट नाका लगाया जाए ताकि मौज़ मस्ती के लिए आने वाले पर्यटकों पर लगाम लगाई जा सके.मंदिर आने जाने वाली हर गाड़ी को चेकिंग के लिए रोका जाये तथा अवैध कारोबार पर भी अंकुश लगाया जाये.

ऋषि पराशर की है तपोस्थली

पराशर झील को ऋषि पराशर की तपोस्थली के नाम से पूरे विश्व में जाना जाता है. लेकिन बीते कुछ समय से यहाँ की श्रद्दा को कई पर्यटक अपवित्र कर रहे हैं जोकि चिंता का विषय है. अवैध गतिविधियों के कारण इस धार्मिक स्थल पर बदनुमा से दाग लगने लगा है अगर यह दाग जल्दी नहीं धोया गया तो यह और गाढ़ा होता जायेगा.

-- advertisement --
जोगिंदरनगर से जुड़ने/जोड़ने की हमारी इस कोशिश का हिस्सा बनें। इस न्यूज को
करें और हमारे फेसबुक पेज को भी
करें। इससे न केवल आप हमें प्रोत्साहित करेंगे बल्कि जोगिंदरनगर की लेटैस्ट न्यूज भी प्राप्त कर सकेंगे।