शानन में छात्रों के भविष्य पर तलवार

जोगिंद्रनगर — मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के राज्य सचिवालय सदस्य कुशाल भारद्वाज ने प्रदेश सरकार व विश्वविद्यालय प्रशासन पर जोगिंद्रनगर के शानन स्थित कालेज आफ आयुर्वेदिक फार्मास्यटिकल साइंस में पढ़ रहे छात्र-छात्राओं के भविष्य से खिलवाड़ करने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि इस कालेज में दो साल पहले सेमेस्टर सिस्टम के आधार पर छात्रों का पहला बैच बैठा था। यह पहला बैच प्रदेश विश्वविद्यालय शिमला के अधीन शुरू हुआ, लेकिन इसी कालेज में इसके बाद के दो बैच तकनीकी विश्वविद्यालय हमीरपुर के तहत चल रहे हैं।

विडंबना यह है कि जो सबसे पहले बैच के छात्र हैं, उनका तीसरे सेमेस्टर की परीक्षाएं भी नहीं हुई हैं, जबकि एक साल बाद प्रवेश लेने वाले छात्र जो तकनीकी विश्वविद्यालय से संबंधित हैं, सीनियर छात्रों से भी आगे निकल गए हैं। उन्होंने कहा कि छात्रों के भविष्य से हो रहे इस खिलवाड़ के लिए सीधे रूप में प्रदेश सरकार दोषी है। उन्होंने कहा कि सेमेस्टर प्रणाली होने के बावजूद जिन छात्रों की किसी पेपर में रि-अपीयर आई है, उन्हें अगले सेमेस्टर के पेपर देने की अनुमति नहीं दी जा रही है, जिससे छात्र-छात्राएं मानसिक प्रताड़ना के दौर से गुजर रहे हैं। गत माह इस कालेज के छात्रों का एक प्रतिनिधिमंडल शिमला में कुलपति से भी मिला था, लेकिन आश्वासन के अलावा कुछ नहीं हुआ।

इस संबंध में छात्र व उनके अभिभावक मुख्यमंत्री और लोक निर्माण मंत्री से भी मिल चुके हैं, लेकिन सब जगह मात्र आश्वासनों की घुट्टी ही मिली। उन्होंने चेतावनी दी कि यदि जल्दी ही आयुर्वेदिक कालेज के छात्रों के साथ न्याय नहीं किया तो वे छात्रों व अभिभावकों को इकट्ठा कर संघर्ष का बिगुल बजा देंगे। इससे पहले भी कालेज में लेक्चरर के खाली पद भरने के लिए भी उन्होंने छात्रों को संगठित कर आंदोलन किया था।

-- advertisement --
जोगिंदरनगर से जुड़ने/जोड़ने की हमारी इस कोशिश का हिस्सा बनें। इस न्यूज को
करें और हमारे फेसबुक पेज को भी
करें। इससे न केवल आप हमें प्रोत्साहित करेंगे बल्कि जोगिंदरनगर की लेटैस्ट न्यूज भी प्राप्त कर सकेंगे।