लडभड़ोल की खद्दर पंचायत को मिला 5 लाख का पुरस्कार

वर्तमान युग में ऐसा देखने और सुनने को कम ही मिलता है कि अमुक संस्था या किसी प्रतिनिधि ने लग्न मेहनत और इमानदारी के दम पर अपना व अपने क्षेत्र का नाम रोशन किया हो. लेकिन कहीं न कहीं इमानदारी आज भी जिन्दा है तथा अपने दम पर मंजिल हासिल का हौंसला आज भी कई लोग रखते हैं और अपने क्षेत्र का नाम देश के नक्शे में लेकर आते हैं. ऐसी ही एक पंचायत है खद्दर, जिसने एक बार फिर से लडभड़ोल क्षेत्र का नाम रोशन किया है.

खद्दर पंचायत के हो रहे चर्चे

लडभड़ोल तहसील के खद्दर पंचायत के महिला मंडल और पंचायत प्रतिनिधियों के द्वारा किये जा रहे सराहनीय कार्यों के कारण लडभड़ोल क्षेत्र का नाम सुर्खियों में आया है और हर जगह इस पंचायत के चर्चे हैं. अब स्वच्छता के लिए इस पंचायत को पूरे देश में प्रथम स्थान पर रहने के लिए लडभड़ोल क्षेत्र का सीना गर्व से ऊंचा किया है.

पशुओं के पंजीकरण के लिए मिला 5 लाख का इनाम

स्वच्छता के ही क्षेत्र में नहीं हिमाचल सरकार द्वारा चलाई जा रही पशुधन योजना को कामयाब करने के उदेश्य से लड भड़ोल क्षेत्र ने पशुओं के पंजीकरण और चिन्हित करने के लिए शत प्रतिशत लक्ष्य को भी पूरा कर लिया है इसके एवज में 4 सितम्बर को हमीरपुर में आयोजित एक कार्यक्रम में खद्दर पंचायत को 5 लाख का इनाम मिला है.

बीडीओ और उपायुक्त हैं प्रेरणास्रोत

उधर खद्दर पंचायत के प्रधान विजय कुमार का कहना है कि इस उपलब्धि के पीछे विकास खंड अधिकारी चौंतड़ा विसुधा सूद तथा उपायुक्त संदीप कदम उनके प्रेरणास्रोत रहे हैं. इसके अलावा विजय कुमार ने इसका श्रेय सभी पंचायत वासियों को भी दिया है.

स्वच्छता के मामले में भी मिला है राष्ट्रीय पुरस्कार

इससे पहले भी इस पंचायत को स्वच्छता के मामले में राष्ट्रीय स्तर का पुरस्कार मिल चुका है. स्वच्छता के मामले में पूरे देश में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने के लिए प्रधानमंत्री द्वारा इसी पंचायत की महिला कांता देवी को सम्मानित किया गया था.

सभी के लिए प्रेरणास्रोत बनी यह पंचायत

लडभड़ोल क्षेत्र की खद्दर पंचायत आज सभी के लिए प्रेरणास्रोत बन चुकी है. बस जरूरत है हिम्मत और मेहनत से कार्य को करने की. अपने कार्य के लिए जब हर व्यक्ति जागरूक होगा तभी वह मिसाल भी कायम कर सकेगा और दूसरों के लिए प्रेरणास्रोत भी बन सकेगा.

जोगिन्दरनगर की लेटेस्ट न्यूज़ के लिए हमारे फेसबुक पेज को
करें।