तीन डिग्री लुढ़का हिमाचल का पारा

शिमला — मौसम के करवट बदलते ही प्रदेश में ठंड का प्रकोप बढ़ गया है। दिनभर आसमान में बादलों के छाए रहने व ठंडी हवाओं के चलने से प्रदेश भर के तापमान में दो से तीन डिग्री तक की गिरावट दर्ज की गई है। मंगलवार को सुबह से ही आसमान में बादल छाए रहे। धूप न लगने व हवाओं के चलने से दिनभर मौसम का मिजाज ठंडा रहा। मौसम विभाग के मुताबिक पश्चिमी विक्षोभ के जम्मू-कशमीर में सक्रिय होने से प्रदेश में ठंडी हवाएं चली हैं।

मौसम विभाग द्वारा जारी पूर्वानुमान के मुताबिक 10 दिसंबर तक प्रदेश में मौसम का मिजाज शुष्क रहेगा। ठंडी हवाओं के चलने से तापमान में लगातार गिरावट आएगी। मंगलवार को केलांग सबसे ठंडा क्षेत्र रहा। यहां पर -1.1 डिग्री सेल्सियस तापमान रिकार्ड किया गया। मनाली का न्यूनतम तापमान 3.8 व कल्पा का 1.4 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। मौसम का मिजाज बदलते ही राजधानी शिमला सहित प्रदेश के अन्य पर्यटक स्थलों में पर्यटकों की आवाजाही बढ़ना शुरू हो गई है। राजधानी में पिछले एक सप्ताह से भारी तादाद में पर्यटक घूमने के लिए पहुंचे हैं।

राजधानी सहित प्रदेश के दूसरे जिलों के न्यूनतम तापमान में भारी गिरावट दर्ज की गई है। शिमला का न्यूनतम तापमान सोमवार को 8 डिग्री सेल्सियस था, जो मंगलवार को लुढ़ककर 7.5 डिग्री तक पहुंच गया। धर्मशाला का तापमान सोमवार को 11.4 डिग्री सेल्सियस था जो गिरकर 10.2 डिग्री तक पहुंच गया है। भुंतर का तापमान सोमवार को 7.7 के मुकाबले गिरकर 6.6 डिग्री तक चला गया है। मौसम विभाग के निदेशक डा. मनमोहन सिंह ने कहा कि पश्चिमी विक्षोभ के साथ लगते राज्यों जम्मू-कशमीर में सक्रिय होने के चलते प्रदेश में ठंडी हवाएं चली हैं। इसके चलते तापमान में हल्की गिरावट आई है। उन्होंने कहा कि अगले पांच दिनों तक प्रदेश में मौसम सामान्य बना रहेगा।

-- advertisement --
जोगिंदरनगर से जुड़ने/जोड़ने की हमारी इस कोशिश का हिस्सा बनें। इस न्यूज को
करें और हमारे फेसबुक पेज को भी
करें। इससे न केवल आप हमें प्रोत्साहित करेंगे बल्कि जोगिंदरनगर की लेटैस्ट न्यूज भी प्राप्त कर सकेंगे।