कुराटी के ग्रामीणों ने मात्र 20 दिनों में ही कर दिया बावड़ी का पुनर्निर्माण

जोगिन्दरनगर : जोगिन्दरनगर उपमंडल में पीपली पंचायत के तहत कुराटी के ग्रामीणों ने पीने के पानी की बावड़ी का खुद ही श्रमदान करके मात्र 20 दिनों में पुनर्निर्माण कर दिया जिससे समस्त ग्रामीणों की प्रशंसा हो रही है. कई वर्षों ले लटके इस बावड़ी के पुनर्निर्माण को गाँव के युवा वर्ग ने मात्र 20 दिनों में नए सिरे से तैयार कर मिसाल कायम की है. ग्रामीणों ने खुद ही इस बावड़ी का पुनर्निर्माण करने का निश्चय कर लिया. ग्रामीणों के इस सराहनीय कार्य से पूरे गाँव में ख़ुशी का माहौल है. उधर ग्रामीणों का कहना है कि यह कार्य केवल पंचायत के पूर्व प्रधान इंद्र सिंह की सहायता से सम्भव हो पाया है. उधर पंचायत प्रधान नेकराम का कहना है कि बावड़ी के पुनर्निर्माण हेतु प्रस्ताव पास हुआ था तथा इसका कार्य शीघ्र ही शुरू होने वाला था लेकिन ग्रामीणों ने खुद ही इस कार्य को सम्पन्न कर मिसाल कायम की है.

कड़ी मेहनत से हुई तैयार

ग्रामीणों की कड़ी मेहनत से पीने के पानी की यह बावड़ी जोकि पुरानी होने के कारण टूट -फूट चुकी थी अब बनकर तैयार हो चुकी है जिससे समस्त गाँव में ग्रामीणों की प्रशंसा हो रही है तथा ग्रामीणों की मेहनत रंग लाई. ग्रामीणों का कहना है कि यह बावड़ी बरसों पुरानी है तथा ग्रामीणों के लिए पीने का पानी हर समय उपलब्ध रहता है. ग्रामीणों की कड़ी मेहनत और दृढ संकल्प से ही यह सब सम्भव हो पाया है.

पूर्व प्रधान का रहा सराहनीय योगदान

ग्रामीणों का कहना है कि इस बावड़ी के पुनर्निर्माण हेतु ग्राम पंचायत पीपली के पूर्व प्रधान इंद्र सिंह का सराहनीय योगदान रहा है तथा उनके योगदान से ही इस बावड़ी का कार्य सम्पन्न हो सका है. समस्त ग्रामीणों ने पूर्व प्रधान का आभार जताया है. उधर पूर्व प्रधान इंद्र सिंह ने समस्त ग्रामीणों को इस बावड़ी का कार्य सफलतापूर्वक सम्पन्न होने पर हार्दिक बधाई दी है.

इन लोगों की मेहनत लाई रंग

इस बावड़ी के पुनर्निर्माण में जिनका अहम योगदान रहा वे हैं हरीश कुमार,संजय कुमार,अनिल कुमार,संजीव कुमार,अर्जुन सिंह,सोंनू,विकी. इन युवाओं ने बावड़ी के जीर्णोद्धार के लिए पूरा समय दिया.इसके अलावा सरोज कुमारी,गोरी शंकर,बिहरमा,सिमरी,पूजा, आशा,अनीता विमला,शांता का भी योगदान रहा है.

पंचायत प्रधान ने ग्रामीणों को दी बधाई

उधर पीपली पंचायत के प्रधान नेक राम का कहना है कि ग्रामीणों की मांग पर बावड़ी के पुनर्निर्माण बारे प्रस्ताव पास किया गया था तथा 3 तारीख से इस हेतु मस्टररोल निकाला जाना था लेकिन ग्रामीणों ने खुद ही श्रमदान से इस  कार्य को पूरा कर दिया. उन्होंनें समस्त ग्रामीणों को इस सराहनीय कार्य के लिए बधाई दी है.

-- advertisement --
जोगिंदरनगर से जुड़ने/जोड़ने की हमारी इस कोशिश का हिस्सा बनें। इस न्यूज को
करें और हमारे फेसबुक पेज को भी
करें। इससे न केवल आप हमें प्रोत्साहित करेंगे बल्कि जोगिंदरनगर की लेटैस्ट न्यूज भी प्राप्त कर सकेंगे।