अंतर्राष्ट्रीय पैराग्लाईडिंग प्रतियोगिता का दूसरा दिन

अंतर्राष्ट्रीय पैराग्लाईडिंग प्रतियोगिता

अंतर्राष्ट्रीय पैराग्लाईडिंग प्रतियोगिता एफ.ए.आई-सी-2 के दूसरे दिन शुक्रवार को बिलिंग से 73 पायलटों ने उडान भरी । उडान भरने वालों में 6 महिला पैराग्लाईडिंग पायलट भी शामिल है इनमे 1 भारत से जबकि 3 रूस व 1-1 पोलैंड तथा कजाकिस्तान से सम्बधित है । सबसे पहले दक्षिण अफ्रीका के विश्व कीर्तिमान धारक पायलट नेविन लिटन ह्यूलेट ने उडान भरी ।

50 कि.मी सोलो उडान का टास्क

प्रतियोगिता के पहले दिन बिलिंग से उडान भरने के बाद सभी पायलटों को 50 कि.मी सोलो उडान का लक्ष्य दिया गया है । इसके अंतर्गत निर्धारित किये गये टास्क के अनुसार पायलटों को बिलिंग से उडान भरने के बाद उतराला डैम साइट होते हुए जोगिन्दर नगर रेलवे स्टेशन कि तरफ जाना था, वहीं रेड रूफ के उपर से उडान भरते हुए क्योर- बीड़ लेंडिंग साइट पर उतरना था । शाम ढलने तक 53 पायलट सुरक्षित लेंडिंग करने में सफल रहे । प्रथम दिन चुनावी दौर के चलते मात्र ट्रायल उड़ने ही हो सकी थी ।

15 रैस्क्यू टीमें तैनात

युवा सेवाए एवं खेल विभाग कि संयुक्त निदेशक ने कहा कि प्रतियोगिता के प्रथम दिन सभी पायलटों ने सुचारू ढंग उडान भरी । उन्होंने बताया कि सुरक्षा के लिए 15 रैस्क्यू टीमों को उतराला, चौंतडा,जोगिन्दरनगर, संसाल, घट्टा, बखेड़, दियोल व पालमपुर सेक्टरों में तैनात किया गया है ।

जोगिन्दरनगर की लेटेस्ट न्यूज़ के लिए हमारे फेसबुक पेज को
करें।