हिमाचल में फर्जी निकले एक लाख राशन कार्ड : वीरभद्र

शिमला: हिमाचल में 1 लाख के करीब राशन कार्ड फर्जी पाए गए हैं। मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने डिजिटल राशन कार्ड की लांचिंग पर कहा कि लगभग 1 लाख राशन कार्ड ऐसे पाए गए, जो दोहरे बने हुए थे। उन्होंने कहा कि इससे राज्य में सस्ते राशन कार्ड की सबसिडी पर ज्यादा भार पड़ रहा था।

मुख्यमंत्री ने कहा कि डिजिटल राशन कार्ड से फर्जी राशन कार्ड पर रोक लगेगी। परिवहन एवं खाद्य, नागरिक आपूर्ति मंत्री जी.एस. बाली, उद्योग मंत्री मुकेश अग्रिहोत्री तथा आबकारी एवं कराधान मंत्री प्रकाश चौधरी भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

फर्जी राशन कार्ड धारकों पर कार्रवाई से इंकार

उन्होंने एक सवाल के जवाब में फर्जी राशन कार्ड धारकों पर किसी भी तरह की कार्रवाई से साफ  इंकार किया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि 16 लाख डिजिटल राशन कार्ड डिपुओं में पहुंचा दिए गए हैं तथा 5 अप्रैल से पुराना राशन कार्ड जमा करवाने के बाद उपभोक्ताओं को डिजिटल राशन कार्ड मिलना शुरू हो जाएंगे। उन्होंने कहा कि 2,000 दुकानों में पोजस मशीनें पहुंचा दी गई हैं। अढ़ाई हजार दुकानों में शीघ्र ही मशीनें इंस्टाल कर दी जाएंगी।

एजैंडा होगा, तभी चलेगा सैशन 

बजट सत्र के समय से पहले समाप्त होने की अटकलों पर मुख्यमंत्री ने कहा कि एजैंडा होगा, तभी सैशन चलेगा। उन्होंने कहा कि यदि एजैंडा ही नहीं होगा, तो सैशन कैसे चलेगा। उन्होंने कहा कि विपक्ष सदन में चर्चा में हिस्सा लेने की बजाय बिना किसी मसले के वाकआऊट कर रहा है। इससे साफ है कि विपक्ष ड्रामेबाजी में ज्यादा विश्वास करता है और जनता से जुड़े मुद्दों में उनकी कोई दिलचस्पी नहीं है।

स्रोत : पंजाब केसरी

-- advertisement --
जोगिंदरनगर से जुड़ने/जोड़ने की हमारी इस कोशिश का हिस्सा बनें। इस न्यूज को
करें और हमारे फेसबुक पेज को भी
करें। इससे न केवल आप हमें प्रोत्साहित करेंगे बल्कि जोगिंदरनगर की लेटैस्ट न्यूज भी प्राप्त कर सकेंगे।