कोविड-19 : हिमाचल में कोरोना से तीसरी मौत

शिमला : कोरोना संक्रमण को लेकर शुक्रवार को हिमाचल को बड़ा झटका लगा और प्रदेश में वायरस से तीसरी मौत का मामला सामने आ गया है। हमीरपुर के गलोड़ क्षेत्र के हटली का 52 वर्षीय व्यक्ति कोरोना वायरस का शिकार बना है। कोरोना संक्रमण के चलते प्रदेश में एक तरह से यह पहली मौत है।

राज्य सरकार के लिए चुनौती

हालांकि इससे पहले दम तोड़ने वाले तिब्बती नागरिक लंबे समय से दूसरी बीमारियों से पीडि़त थे और 21 वर्षीय सरकाघाट के युवक की दोनों किडनियां खराब थीं। लिहाजा महामारी से दम तोड़ने वाला गलोड़ का यह पहला मामला राज्य सरकार की स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए एक बड़ी चुनौती बन गया है।

कुल संक्रमित 76

इसके अलावा शुक्रवार को प्रदेश में कोरोना संक्रमण के दो नए मामले ऊना के हरोली और कांगड़ा जिला के फतेहपुर में सामने आए हैं। इसके साथ ही प्रदेश में संक्रमितों की कुल संख्या 76 तक पहुंच गई है। प्राप्त जानकारी के अनुसार गलोड़ के मरीज की मौत कोविड-19 अस्पताल नेरचौक मेडिकल कालेज में हुई।

रास्ते में तोड़ा दम

वह राधा स्वामी चैरिटेबल अस्पताल में आइसोलेशन वार्ड में भर्ती था, लेकिन शुक्रवार को सांस लेने में काफी तकलीफ होने पर उसे नेरचौक रैफर कर दिया गया। एंबुलेंस करीब पांच बजे मेडिकल कालेज पहुंची, लेकिन जब चिकित्सकों ने मरीज की जांच की तो उसकी मौत एंबुलेंस में ही हो चुकी थी। यह मरीज दिल्ली से 29 अप्रैल को लौटा था और नौ मई को उसका कोरोना टेस्ट पॉजिटिव आया था।

परिजनों के आने पर होगा अंतिम संस्कार

मेडिकल कालेज के अधीक्षक डा. देवेंद्र शर्मा ने बताया कि मरीज की मौत एंबुलेंस में ही हो चुकी थी। इसके बाद शव को पूरी सुरक्षा व नियमों के अनुसार शवगृह में रखा गया है। उधर, उपायुक्त मंडी ऋगदेव ठाकुर ने बताया कि इस मरीज की मौत की सूचना उपायुक्त हमीरपुर को दे दी गई है। मृतक के परिजनों के आने का इंतजार किया जा रहा है। इसके बाद मरीज का अंतिम संस्कार किया जाएगा।

ऊना के हरोली में भी नया मामला

इसी बीच, शुक्रवार को सामने आए दो में से पहला मामला ऊना के हरोली क्षेत्र का है, जहां महाराष्ट्र से एक सप्ताह पहले चंडीगढ़ और फिर ऊना क्षेत्र के अपने एक दोस्त के साथ बाइक पर मैहतपुर प्रवेश द्वार पर पहुंचा 33 वर्षीय युवक संक्रमित पाया गया है।

काँगड़ा के फतेहपुर का मामला

दूसरा मामला कांगड़ा की फतेहपुर तहसील का है, जहां दिल्ली से पिता के साथ टैक्सी के माध्यम से आठ मई को घर आया 22 वर्षीय युवक कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। वह होम क्वारंटाइन था। कोरोना पॉजिटिव युवक को उपचार के लिए कोविड-19 टीम द्वारा बैजनाथ भेजा गया है। इसकी पुष्टि जिलाधीश कांगड़ा राकेश प्रजापति ने की है।

सहमे लोग

बहरहाल प्रदेश में तीसरी मौत के बाद लोग सहम गए हैं। हालांकि राज्य में अभी तक दूसरे प्रदेशों के मुकाबले कोरोना पीडि़तों के कम मामले हैं। प्रदेश भर में शुक्रवार को 1257 लोगों के सैंपल जांच के लिए भेजे गए थे। खबर लिखे जाने तक इनमें से 856 सैंपल की जांच रिपोर्ट नेगेटिव पाई गई थी, जबकि एक की पॉजिटिव। इसके अलावा 400 लोगों की जांच रिपोर्ट आनी बाकी थी।

15557 लोगों की जांच पूरी

प्रदेश में इस समय तक 15557 लोगों की जांच की जा चुकी है। इनमें से 15076 लोगों की जांच रिपोर्ट नेगेटिव पाई जा चुकी है एवं 76 व्यक्तियों में इस संक्रमण की पुष्टि हो सकी है। 34 लोग अस्पतालों में उपचाराधीन हैं। अतिरिक्त मुख्य सचिव आरडी धीमान का कहना है कि प्रदेश सरकार हर नागरिक को स्वास्थ्य सुविधा घर द्वार पर उपलब्ध करवाने के लिए कृतसंकल्प है।

ई-संजीवनी सुविधा हुई शुरू

इसी उद्देश्य की पूर्ति के लिए प्रदेश में ई-संजीवनी ओपीडी. परामर्श सुविधा आरंभ की गई है। प्रदेश के विभिन्न मेडिकल कालेजों के डाक्टर सभी कार्य दिवस पर सुबह साढ़े नौ बजे से सायं चार बजे तक निःशुल्क स्वास्थ्य परामर्श की सुविधा प्रदान रहे हैं। इसके अतिरिक्त विशेषगीय सेवाओं के लिए टेली परामर्श सुविधा भी दी जा रही है।

कोरोना अब तक

निगरानी में 28196

क्वारंटाइन पीरियड 8189

कुल सैंपल 15557

कुल नेगेटिव 15076

कुल पॉजिटिव 76

ठीक हुए 35

पॉजिटिव (माइग्रेटिड)04

उपचाराधीन 34

कोरोना से मौत 03

-- advertisement --
जोगिंदरनगर से जुड़ने/जोड़ने की हमारी इस कोशिश का हिस्सा बनें। इस न्यूज को
करें और हमारे फेसबुक पेज को भी
करें। इससे न केवल आप हमें प्रोत्साहित करेंगे बल्कि जोगिंदरनगर की लेटैस्ट न्यूज भी प्राप्त कर सकेंगे।