जानलेवा हो सकती है जंगली मशरूम, (छाछ) ऐसे पहचानें

बरसात के आगमन के साथ ही जंगलों में कई प्रकार के जंगली मशरूम भी उगना शुरू हो जाते हैं. ग्रामीण इस जंगली मशरूम (छाछ) को बड़े ही चाव से खाते हैं लेकिन आपको बता दें कि जंगली मशरूम जहरीले भी होते हैं. इनका उपयोग बड़ी ही सावधानी से करना चाहिए नहीं तो ये जानलेवा भी साबित हो सकते हैं.

कैसे करें जांच?

शंका होने पर या पहचान न होने पर मशरूम की एक क्लोज-अप फोटो हमारे फेसबुक पेज पर पोस्ट करें या हमें मेसेज करें. कुछ ही समय के बाद हम आपको बता देंगे कि मशरूम खाने लायक है या नहीं.

(फंडाबुक वैबसाईट की इस पोस्ट में जहरीली मशरूम्स और इसकी पहचान के बारे में जानकारी दी गयी है. पढ़ें)

मशरूम के बारे में अधिक जानकारी के लिए आगे पढ़ते रहें

क्या है मशरूम?

मशरूम “कुकुरमुत्ता” नहीं अपितु फफूंदों का फलनकाय है, जो पौष्टिक, रोगरोधक, स्वादिष्ट तथा विशेष महक के कारण आधुनिक युग का एक महत्वपूर्ण खाद्य आहार है. बिना पत्तियों के, बिना कलिका, बिना फूल के भी फल बनाने की अदभुत क्षमता, जिसका प्रयोग भोजन के रूप में, टानिक के रूप में औषधि के रूप में इसकी उत्पत्ति प्रकृति का बहुमूल्य उपहार है.

मशरूम विशेष प्रकार की फफूंदों का फलनकाय है, जिसे फुटु, छत्तरी, भिभौरा, छाती, कुकुरमुत्ता, ढिगरी आदि नामों से भी जाना जाता है. मशरूम खेतों में, मेढ़ों में, वनों में प्राकृतिक रूप से विभिन्न प्रकार के माध्यमों में निकलते है. इनमें खाद्य, अखाद्य, चिकित्सीय, जहरीले एव अन्य मशरूम होते है.

ये भी पढ़ें: मशरुम (कुकुरमुत्ता) कैसे बनती है ?

-- advertisement --
जोगिंदरनगर से जुड़ने/जोड़ने की हमारी इस कोशिश का हिस्सा बनें। इस न्यूज को
करें और हमारे फेसबुक पेज को भी
करें। इससे न केवल आप हमें प्रोत्साहित करेंगे बल्कि जोगिंदरनगर की लेटैस्ट न्यूज भी प्राप्त कर सकेंगे।