पंजाब से 16 सुरंगों से होती हुई बिलासपुर पहुंचेगी ब्रॉडगेज रेललाइन

सामरिक दृष्टि से महत्त्वपूर्ण भानुपल्ली-बिलासपुर ब्रॉडगेज रेलवे लाइन पंजाब से 16 टनल से गुजरते हुए भाखड़ा विस्थापित शहर तक पहुंचेगी। इस समय भानुपल्ली से लेकर धरोट तक बीस किलोमीटर एरिया में छह किलोमीटर लंबी सात सुरंगों का निर्माण कार्य चल रहा है, जिसका टेंडर हैदराबाद की मैक्स इन्फ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड कंपनी को 435 करोड़ में अवार्ड किया गया है। इससे आगे बिलासपुर मुख्यालय तक प्रस्तावित टनल के निर्माण के लिए टेंडर की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है और जल्द ही टेंडर किए जाएंगे। टनल और ब्रिज निर्माण के बाद रेल ट्रैक बिछाने के लिए टेंडर होंगे।

पहले चरण में जंडौरी से वाया धरोट बिलासपुर मुख्यालय तक कुल 52 किलोमीटर रेलवे ट्रैक बिछाया जाएगा और इस कार्य को पूरा करने के लिए सरकार ने चार साल का लक्ष्य निर्धारित किया है। इस महत्त्वपूर्ण रेल लाइन की मॉनिटरिंग भी लगातार की जा रही है और बिलासपुर के उपायुक्त हर महीने रिव्यू करेंगे।

जिन टनल का निर्माण कार्य हो रहा है, वह सभी टनल न्यू ऑस्ट्रियन टनलिंग मैथड (एनएटीएम) पर बनेंगी। इस ब्रॉडगेज लाइन की चौड़ाई 1674 एमएम होगी। बिलासपुर मुख्यालय तक कुल 16 टनल बनेंगी। इनमें मैहला टनल साढ़े तीन किलोमीटर होगी।

पंजाब के भानुपल्ली से धरोट तक सात टनल का टेंडर हो चुका है, जबकि बिलासपुर तक शेष टनल के टेंडर के लिए रेलवे विकास निगम ने प्रोसेस शुरू कर दिया है। निगम की ओर से जल्द ही टेंडर किए जाएंगे।

पंजाब के भानुपल्ली में कार्यरत रेल विकास निगम के साइट इंजीनियर उपेंद्र परमार ने बताया कि पंजाब से सटी जिले की सीमा पर टनल निर्माण का कार्य जारी है। दो टनल का कार्य 100 मीटर और चार का 50 मीटर तक काम पूरा भी हो चुका है।

 

 

 

 

 

 

 

 

जंडौरी में टनल एक व टनल दो नंबर का काम चल रहा है और दोनों ही टनल लगभग डेढ़ किलोमीटर लंबी हैं। इससे आगे कांगूवाली तक चार अन्य टनल निर्मित की जाएंगी। इन सभी सातों टनल की कुल लंबाई छह किलोमीटर बनती है। पंजाब के दोनाल नामक स्थान पर ये टनल निकलेंगी।

टनल निर्माता कंपनी को दो से अढ़ाई साल के अंदर काम पूरा करने का लक्ष्य दिया गया है। सुरंग से लेकर जंक्शन निर्माण की योजना का भी प्रारूप तैयार किया गया है।

पंजाब के दोनाल, बालकनाथ खड्ड और हिमाचल के दबट व धरोट में ब्रिज बनेंगे। रेल लाइन में धरोट तक छोटे और बड़े सभी को मिलाकर कुल पांच मेजर ब्रिज बनेंगे, जिसका जिम्मा पंचकूला की एसपी सिंघला कंपनी को सौंपा गया है। इससे आगे ब्रिज निर्माण के लिए भी जल्द ही आगामी प्रक्रिया चलेगी।

वहीं, भानुपल्ली-बिलासपुर रेललाइन में छह स्टेशन बनेंगे, जिसके तहत पंजाब के थल्लू, उसके बाद हिमाचल में धरोट और इससे आगे बैहल के समीप बनेगा। फिर जकातखाना व बिलासपुर में स्टेशन बनेंगे। मेजर जंक्शन बिलासपुर शहर के समीप गोबिंदसागर किनारे बनेगा।

-- advertisement --
जोगिंदरनगर से जुड़ने/जोड़ने की हमारी इस कोशिश का हिस्सा बनें। इस न्यूज को
करें और हमारे फेसबुक पेज को भी
करें। इससे न केवल आप हमें प्रोत्साहित करेंगे बल्कि जोगिंदरनगर की लेटैस्ट न्यूज भी प्राप्त कर सकेंगे।