16 मई को लगेगा चंद्र ग्रहण

पहला चंद्र ग्रहण 16 मई सोमवार को लग रहा है। यह ग्रहण भारत समेत विश्व के कई महादेशों में दिखाई देगा। इसका प्रभाव भारत में भी पड़ेगा। अत: इसका सूतक मान्य होगा। यह एक पूर्ण चंद्र ग्रहण रहेगा।

जवाली के ज्योतिष पंडित विपिन शर्मा ने बताया कि भारतीय मानक समयानुसार इस बार ग्रहण का समय प्रात: 7.02 बजे से शुरू होकर दोपहर 12.20 बजे तक रहेगा। 16 मई को लगने वाला चंद्र ग्रहण वृश्चिक राशि में लगेगा। इस दिन विशाखा नक्षत्र होगा।

ग्रहण के दिन बन रहे ग्रह-नक्षत्र के योग तीन राशि के जातकों के लिए लाभदायक रहेंगे। मान्यतानुसार चंद्र ग्रहण के समय सूर्य, चंद्रमा एवं पृथ्वी एक ही क्रम में होते हैं, जिसके कारण चंद्र ग्रहण लगता है। चंद्र ग्रहण के नौ घंटे पहले सूतक लग जाता है।

ग्रहण में लगने वाला सूतक काल एक अशुभ अवधि होती है, जो ग्रहण से पूर्व लगता है और ग्रहण समाप्ति के साथ ही खत्म होता है। ग्रहण के बाद नियम का पालन एवं दान करने का विशेष महत्त्व माना जाता है।

बरतें ये सावधानियां

सूतक काल के दौरान घर के मंदिर के कपाट बंद कर दें, ताकि देवी-देवताओं पर ग्रहण की काली छाया न पड़ें, मंदिर अथवा घर के मंदिर के देवी-देवताओं की मूर्ति को स्पर्श न करें ,दातून न करें, कठोर वचन बोलने से बचें, बालों व कपड़ों को नहीं निचोड़ें, घोड़ा, हाथी की सवारी न करें, ग्रहण काल में वस्त्र न फाड़ें, शयन और यात्रा न करें, चंद्र ग्रहण के दिन गर्भवती महिलाओं को विशेष तौर से अपनी सेहत का खास ध्यान रखना चाहिए।

इन राशियों पर शुभ असर

मेष राशि। चंद्र ग्रहण मेष राशि के जातकों पर कृपा बरसाएगा। करियर के लिए यह समय अच्छा रहेगा। धन लाभ होगा। नौकरी के साथ व्यापारियों के लिए ग्रहण शुभ है। निवेश के लिए समय उत्तम रहेगा।

सिंह राशि। सिंह राशि वालों के लिए चंद्र ग्रहण शुभ रहेगा। नौकरी में प्रोमोशन मिल सकता है। आय के नए साधन सामने आएंगे।

धनु राशि। चंद्र ग्रहण धनु राशि वाले जातकों पर सकारात्मक असर डालेगा। तरक्की के नए अवसर प्राप्त होंगे। जॉब करने वालों को नई नौकरी के प्रस्ताव मिलेंगे। व्यापारियों को बड़ा ऑर्डर मिल सकता है।

जोगिन्दरनगर की लेटेस्ट न्यूज़ के लिए हमारे फेसबुक पेज को
करें।