देवताओं की बनेगी डायरेक्टरी

मंडी : अंतरराष्ट्रीय शिवरात्रि महोत्सव के इतिहास में यह पहला अवसर होगा कि देव मिलन की परंपरा निभाने मंडी आने वाले जनपद के हर देवता का रिकॉर्ड तैयार किया जाएगा। शिवरात्रि मेला आयोजन समिति ने ऐतिहासिक फैसला लिया है कि इस धार्मिक व सांस्कृतिक धरोहर के संरक्षण के दृष्टिगत मेले में आमंत्रित सभी देवताओं की डायरेक्टरी बनाई जाएगी।

बताया जा रहा है कि डायरेक्टरी में देवता, उसके मंदिर, देवता के संग जुड़े मेलों व उत्सवों के अलावा देवता कमेटी और अन्य कई विवरण होंगे। देवता के मंदिर तक कैसे पहुंचें, देवता विशेष से जुडे़ लोगों के साथ कैसे संपर्क स्थापित किया जाए, यह सब डायरेक्टरी में उपलब्ध होगा। मेला कमेटी की ओर से बनाई जा रही इस डायरेक्टरी के बहाने शिवरात्रि में आने वाले देवताओं के बारे में जानकारी एक किताब में उपलब्ध होगी। मेला कमेटी की ओर से इस डायरेक्टरी काविमोचन शिवरात्रि मेले के समापन पर किया जाएगा।

देव कमरूनाग का होगा भव्य स्वागत

बारिश के देवता देव कमरूनाग के मंडी नगर में पहुंचने के साथ मंडी शिवरात्रि का शुभारंभ हो जाता है। देव कमरूनाग के मंडी नगर की सीमा पर पहुंचने पर तहसीलदार सदर की ओर से उनका स्वागत किया जाता है, लेकिन मेला कमेटी की ओर से इस बार देव कमरूनाग के स्वागत के लिए विशेष योजना बनाई गई है। देव कमरूनाग के स्वागत को आकर्षक बनाने की योजना तैयार की गई है। इस बार शहर में देव कमरूनाग के प्रवेश में खासा आकर्षण रहेगा।

संवरेगा बाबा भूतनाथ का दरबार

जिस भूतनाथ मंदिर के साथ मंडी नगर की स्थापना हुई, उस मंदिर की चमक दमक इस बार देखने काबिल होगी। भूतनाथ मंदिर के संरक्षण का काम इस समय पूरे जोश के साथ चल रहा है। धरोहर संरक्षण की दिशा में अहम काम करने वाली संस्था इंटेक को इस मंदिर के संरक्षण का जिम्मा सौंपा गया है। करीब पांच सौ साल बाद भूतनाथ मंदिर के छात्र को बदला गया है। मंदिर के संरक्षण से शिव भक्तों में खुशी की लहर है।

वन वे होगी ट्रैफिक

महोत्सव के दौरान मंडी शहर में यातायात व्यवस्था को सुचारू रूप से बनाए रखने के लिए आठ से 20 मार्च तक शहर के कुछ स्थानों पर यातायात व्यवस्था को वनवे किया जा रहा है तो कुछ स्थानों पर पूर्ण प्रतिबंधित किया जा रहा है। जिला दंडाधिकारी मंडी देवेश कुमार ने मोटर वाहन अधिनियम के तहत अधिसूचना जारी कर दी है । आठ से 20 मार्च तक चौहटा से खलियार रोड तथा सुकेती पुल से मंगवाई की ओर जाने वाले रोड पर यातायात व्यवस्था वनवे की गई है । पड्डल में तिब्बतियन मार्केट से पुलिस थाना सदर की ओर जाने के लिए केवल पड्डलवासियों व प्रशासन के वाहन ही मान्य होंगे ।

डोम के लिए बोली आज

अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी पंकज राय ने बताया कि अंतरराष्ट्रीय शिवरात्रि महोत्सव के लिए पड्डल मैदान में डोम के लिए जो बोली 18 फरवरी को निर्धारित की गई थी उसमें पर्याप्त बोलीदाता न आने पर यह बोली अब 20 फरवरी को पड्डल मैदान में सायं तीन बजे रखी गई है । उन्होंने डोम के लिए बोली देने वाले इच्छुक बोली दाताओं का आह्वान किया है कि वे 20 फरवरी को बोली में अवश्य भाग लें ।

डायरेक्टरी में होगा देवताओं का विवरण

शिवरात्रि मेले में आने वाले देवताओं की डायरेक्टरी बनेगी और इसमें देवताओं से संबंधित सभी विवरण शामिल होंगे।

-पंकज राय, एडीएम मंडी

Facebook Comments