पीईटी की काउंसिलिंग आज

जोगिन्द्रनगर: अरसे से नौकरी की राह ताक रहे बेरोजगार शारीरिक शिक्षकों को इंतजार अब खत्म होने जा रहा है। प्रारंभिक शिक्षा उपनिदेशक कार्यालय मंडी में सोमवार को इस वर्ग के वर्ष 1998 तक के ट्रेंडबेरोजगारों की काउंसिलिंग की जाएगी।

काउंसिलिंग के बाद सूची तैयार कर इसे निदेशालय भेजा जाएगा। अप्रूवल मिलने के बाद खाली पदों पर शारीरिक शिक्षकों की नियुक्ति कर दी जाएगी। गौर हो कि मंडी जिला के विभिन्न रोजगार कार्यालयों में पंजीकृत वर्ष 1998 बैच तक के बेरोजगार शारीरिक शिक्षकों के लिए नौकरी के दरवाजे खुलेंगे। उच्च न्यायालय के निर्देशों के बाद प्रारंभिक शिक्षा विभाग ने मंडी जिला में विभाग ने भर्ती प्रक्रिया को शुरू कर दिया है।

वर्ष 1997-98 में मान्यता प्राप्त बोर्ड पूना से प्रदेश के सैकड़ों लड़के लड़कियों ने दसवीं के बाद पीईटी का एक वर्ष का डिप्लोमा (सीपीएड) हासिल किया है। बैच के आधे से ज्यादा लड़के और लड़कियां बैच वाइज और कमीशन के माध्यम से प्रदेश के विभिन्न जिलों में दस से पंद्रह सालों से नौकरी कर रहे हैं। 2008-09 में नए भर्ती एवं पदोन्नति नियम बनाकर एक झटके से सैकड़ों बेरोजगारों को अपात्र बना उनके लिए सरकार ने नौकरी के दरवाजे बंद कर दिए थे।

उच्च न्यायालय की शरण में जाने के बाद एक वर्ष का डिप्लोमा करने वाले बेरोजगार शारीरिक शिक्षकों को न्याय मिला है। उच्च न्यायालय के निर्देशों के बाद अब विभाग ने जिला में शारीरिक शिक्षकों के पदों पर भर्ती प्रक्रिया शुरू कर दी है। विभाग ने न्यायालय की शरण जाने वालों के साथ-साथ उन बेरोजगारों को भी काउंसिलिंग के लिए पात्र बनाया है, जो किसी कारणवश कोर्ट तक नहीं पहुंच पाए हैं।

14 जुलाई को डिप्टी डायरेक्टर कार्यालय मंडी में वर्ष 1998 बैच तक के सभी बेरोजगार शारीरिक शिक्षकों को काउंसिलिंग के लिए बुलाया गया है। नौजवानों को मूल प्रमाणपत्रों के साथ उनकी छायाप्रति, चरित्र प्रमाण पत्र, हिमाचली प्रमाण पत्र, रोजगार कार्यालय का पंजीकरण कार्ड व जाति संबंधी प्रमाणपत्र पासपोर्ट साइज फोटो के साथ लाने होंगे।

स्रोत: दिव्यहिमाचल

Facebook Comments