ठगों ने अपनाया ठगी का नया तरीका, सावधान वरना लूट सकते है आपको…

शिमला: अगर आपसे किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा सिम कार्ड का नंबर पूछा जाता है तो मत बताएं। आप भी भी ठगी का शिकार हो सकते हैं। शिमला पुलिस ने शहरवासियों को सख्त निर्देश दिए हैं कि अगर इस तरह की कोई घटना सामने आती है तो तुरंत संपर्क करें।

इन दिनों सिम कार्ड नबर पूछकर ठगी के मामले सामने आ रहे हैं। अभी तक यहां कम से कम 10 के करीब शिकायतें दर्ज हुई हैं।

ठगी को लेकर पुलिस ने कमर कसी

पुलिस का कहना है कि पहले तो अज्ञात व्यक्ति की कॉल आती है और वह सिम कार्ड के 20 अंक पूछते हैं। उसके बाद 121 में एस.एम.एस. करने को बताते हैं। कोई भी ऐसे धोखा खा सकता है। उल्लेखनीय है कि इससे कुछ दिन पहले लोग लाखों रुपए की ठगी के शिकार हो चुके हैं, जिसका पता अभी तक नहीं चल पाया है। कुछ एक मामलों में तो पुलिस सफल हुई है लेकिन कई बार ऐसे मामले होते हैं, जिनका पता भी नहीं लगता। वहीं ऑनलाइन हो रही ठगी को लेकर पुलिस ने कमर कस ली है। वह ऐसे मामलों से निपटने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है लेकिन लोगों को भी खुद सावधानी बरतनी होगी।

ऐसे होती है लूट

आजकल फोन नंबर बैंक खातों से लिंक रहते हैं। खाते में लेन देन की जानकारी मोबाइल पर एसएमएस के जरिए आती है। सिम कार्ड की डिटेल से आपके मोबाइल नेटवर्क से छेड़छाड़ की जाती है। ऐसे में साइबर ठग आपने क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड के जरिए हेर फेर कर लेते हैं और आपको पता भी नहीं चलता। मोबाइल फोन के नेटवर्क से छेड़छाड़ होने की वजह से खाते से होने वाली ट्रांसेक्शन की जानकारी नहीं मिल पाती और ठग पैसों पर हाथ साफ कर लेते हैं।

स्रोत : पंजाब केसरी

Facebook Comments