आया रखड़ी रा त्योहर

भाई बहन के पवित्र प्रेम का पर्व रक्षा बंधन आज पूरे देश में बड़ी ही धूमधाम से मनाया जा रहा है. आज के दिन भाई बहन के प्रेम का प्रतीक यह पर्व चारों ओर अपनी छटा को बिखेरता सा प्रतीत होता है.

चन्द्रग्रहण का भी रहेगा साया

इस साल रक्षाबंधन के दिन भद्राकाल के साथ ही चंद्रग्रहण का साया भी है. सुबह 11:06 बजे से दोपहर 01:42 बजे तक ही राखी बांध दें, दोपहर 1:42 बजे के बाद सूतक लग जाएगा क्योंकि आज चंद्रग्रहण है. राखी के दिन 11:06 बजे तक भद्रा है और इस वजह से आप दिन के 11:06 बजे तक रक्षाबंधन नहीं मना सकते हैं.

कब किस समय बांधें राखी

राखी के दिन आप सुबह 11:06 बजे से दोपहर 01:42 बजे तक रक्षाबंधन मना सकते हैं और भाई की कलाई पर राखी बांध सकते हैं. सुबह 11:06 बजे से दोपहर 01:42 बजे तक ही राखी बांध दें, दोपहर 1:42 बजे के बाद सूतक लग जाएगा क्योंकि कल आंशिक चंद्रग्रहण है. हालांकि आप गुरु, देवता और कुलदेवता को शाम के 7 बजे तक राखी बांध सकते हैं. चंद्रग्रहण 07 तारीख की रात 10.52 बजे शुरू होगा और 9 घंटे पहले यानि दोपहर 1.42 बजे सूतक लग जाएगा एवं सुबह 11.04 तक भद्र का असर रहेगा. भद्र काल और सूतक में कोई भी शुभ काम नहीं करते इसलिए इन दोनों के बीच का समय यानि सुबह 11.05 बजे से लेकर 1.42 मिनट तक आप राखी का त्योहार मना सकते हैं.

त्यौहार मनाने का शुभ मुहूर्त

भद्रकाल रहेगा 11.04 बजे तक
सूतक शुरू होगा दोपहर 1.42 पर
राखी बांधने का समय सुबह 11.05 से लेकर दोपहर 1.42 बजे तक
चंद्रग्रहण 07 अगस्त की रात 10.52 पर लगेगा

विमुख होती पीढ़ी

यह खेद का विषय है कि इस भागमभाग दौड़ में आज की पीढ़ी इन पर्वों से विमुख होती जा रही है. आज जरूरत है ऐसे पर्वों को समय निकाल कर मनाने की ताकि हमारी संस्कृति कम से कम जिन्दा रह सके.

Facebook Comments