बच्चे को रोता सुन, खोल न दें दरवाजा!

व्हाट्सऐप पर मैसेज वायरल, प्रदेश में घुसी 15-20 लोगों की टोली

शिमला -प्रदेश में एक गिरोह घुस आया है, जो किघरों में आपराधिक वारदातों को अंजाम दे रहा है। यह मैसेज इन दिनों सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। इस पोस्ट की जांच में खूफियाएजेंसी भी जांच में जुट गई है। सोशल मीडिया परचल रहे एक मैसेज ने लोगों को दहशत में डाल दिया है। सोशल मीडिया, खासकर व्हाट्सऐप पर इन दिनों यह मैसेज कई ग्रुप में तेजी से फैल रहा है। इस मैसेज में कहा गया है कि हिमाचल में करीब 15 से 20 लोगों का एक गिरोह घुसा हुआ है। उनके साथ बच्चे व महिलाएं भी हैं, जिनके पास बाकायदा हथियार भी हैं। ये लूटपाट और बड़ी आपराधिक वारदात को अंजाम दे सकते हैं।

बताया गया है इस गिरोह में शामिल बच्चे घरों के आसपास रात के वक्त रोने का नाटक करते हैं और ऐसे में यदि कोई अपने घर का दरवाजा खोल देगा, तो ये लोग लूटपाट और अन्य अपराध को भी अंजाम दे सकते हैं। ऐसे में लोगों को आगाह किया गया है कि वे यदि किसी बच्चे के रोने की आवाज सुनते हैं तो अपने घरों का दरवाजा न खोलें, अन्यथा आप इस गिरोह के शिकार बन सकते हैं।

मैसेज की सच्चाई के साथ-साथ ही वस्तुस्थिति का पता लगाने का प्रयास जारी है।एजेंसी सभी जिलों से जानकारी जुटा रही है और जिला पुलिस से भी इनपुट मांगे जा रहे हैं। उधरइस बारे में पुलिस खुलकर कुछ भी कहने को तैयारनहीं है। हालांकि पुलिस अफसर मानते हैं कि इस तरह का मैसेज वायरल हो रहा है। आए दिन वारल हो रहे ऐसे संदेशों से हर कोई हैरत में है।

…और नीचे नाम हिमाचल पुलिस का

इस मैसेज से लोगों में दहशत है, क्योंकि यह मैसेज हिमाचल पुलिस की ओर से जारी किया गया बताया गया है। पुलिस इस तरह के मैसेज से इनकारकर रही है, लेकिन वह इस मामले में कोई ढील नही देना चाहती। पुलिस और खुफिया एजेंसी सीआईडी मैसेज को देखते हुए अलर्ट हो गई है। अभी तक जांच में यह भी पता चला है कि इस तरह के मैसेज पड़ोसी राज्य पंजाब व हरियाणा में चल रहा है, लेकिन खुफिया एजेंसी सतर्क हो गई है। एजेंसी इस बारे में जांच-पड़ताल कर रही है।

स्रोत : पंजाब केसरी

Facebook Comments